Gehu Kharid Registration UP किसान पंजीकरण 2021: eproc.up.gov.in, ई-क्रय प्रणाली

Gehu Kharid Registration UP | उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के तमाम गेहूं किसानों की समस्या को ध्यान में रखते हुए किसानों से घर बैठे गेहू खरीद के लिए ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च किया है। राज्य के जो जो किसान अपनी फसल सरकार को बेचना चाहते हैं उनके लिए राज्य सरकार ने ऑनलाइन पोर्टल खाद्य एवं रसद विभाग ई-क्रय प्रणाली / ई-उपार्जन को लॉन्च किया है।

इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से उत्तर प्रदेश के किसान पोर्टल पर पंजीकरण करने के बाद अपनी फसल (गेहूं) को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर सरकारी एजेंसियों को बेच सकते हैं। आज इस आर्टिकल में हम आपको Gehu Kharid Registration UP किसान पंजीकरण से संबंधित पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

Also Read: UP Ration Card | Kisan Credit Card Apply Online | Nivesh Mitra Login | Parivarik Labh Yojna

Table of Contents

उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली 2021:

राज्य के किसानों की आने जाने में लगने वाली मशक्कतों पर रियायत बरतते हुए उत्तरप्रदेश सरकार ने किसानों से घर बैठे उनकी फसल खरीदने की सुविधा प्रदान की है। उत्तर प्रदेश में गेहूं की खरीद अप्रेल के पहले हफ्ते से 15 मई तक की जाएगी। राज्य के जो किसान अपनी फसल को बेचना चाहते है तो वह खाद्य एवं रसद विभाग की ई-क्रय प्रणाली की ऑफिसियल वेबसाइट पर अपना पंजीकरण कर सकते है। रबी सीजन फसल 2020-21 गेहूं की खरीद के लिए आप 15 अप्रैल से आप इस पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते है।

पोर्टल का नाम ई उपार्जन पोर्टल
किस ने लांच की उत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के किसान
उद्देश्य राज्य के किसानों से ऑनलाइन माध्यम से गेहूं की खरीद करना
आधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें
साल 2021

उत्तरप्रदेश ई क्रय प्रणाली का उद्देश्य :

कोरोना की वैश्विक महामारी के चलते लॉक डाउन की वजह से किसान अपनी फसल को बेचने के लिए कई समस्याओं का सामना कर रहे थे जिससे उन्हें काफी नुकसान भी उठाना पड़ा। इस समस्या को देखते हुए राज्य सरकार ने ऑनलाइन ई क्रय प्रणाली पोर्टल को लॉन्च किया है जिसके माध्यम से किसान अपनी गेहू की फसल बेचने के लिए इस ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते है। इससे किसान की फसल सुविधानुसार बिक सकेगी और किसानो को समय से निर्धारित कीमत मिलने में आसानी होगी। फसल बिकने के बाद फसल की कीमत सीधे लाभार्थियों के बैंक अकॉउंट में पंहुचा दी जाएगी।

ई-क्रय प्रणाली की विशेषताएं :

  • मंडियों में अपनी फसल ले जाने से पहले सभी किसान यूपी ई-उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने साल 2020-21 में गेहूं की खरीद के लिए 5500 खरीद केंद्र बनाए हैं।
  • इस साल 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद का लक्ष्य राज्य सरकार ने रखा है।
  • गेहूं की खरीद 1925 रुपये / क्विंटल के न्यूनतम समर्थन राषि (MSP) पर रखी है।

UP गेहूं खरीद किसान पंजीकरण (Gehu Kharid Registration UP) के लिए लगने वाले दस्तावेज़ :

  • जमीन से संबंधित जानकारी के लिए खसरा, खतौनी, खसरा संख्या और जमीन का रकबा एवं गेहूँ का रकबा आदि।
  • आवेदक का आधार कार्ड।
  • अपने खेत के मालिकाना अधिकार से संबंधित जानकारी देनी होगी ।
  • बैंक अकाउंट पासबुक।
  • मोबाइल नंबर।
  • पासपोर्ट साइज फोटो।

ई क्रय प्रणाली पोर्टल पर किसान पंजीकरण करने की प्रक्रिया (Gehu Kharid Registration UP) :

  • सर्वप्रथम आपको खाद्य एवं रसद विभाग, उ० प्र० ई-क्रय प्रणाली की आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर जाना होगा। gehu kharid registration up
  • होम पेज पर आपको “गेहू खरीद हेतु किसान पंजीकरण “ के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पेज पर 6 स्टेप खुल जाएंगे जिन्हे आपको एक के बाद एक भरना है।
  • सबसे पहले आपको पंजीकरण प्रपत्र पर क्लिक करना होगा जिससे अगले पेज पर किसान रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा । gehu kharid registration up
  • जहा पर आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करने के बाद आगे बढे के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद गेहूं खरीद के लिए ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। इस फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी जानकारी जैसे किसान का नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, पिता, पति का नाम, तहसील, जनपद आदि जानकारी भरने के बाद “पंजीकरण करें” के बटन पर क्लिक करना होगा । e kray pranali
  • अब आपका पंजीकरण सफलतापूर्वक हों जायेगा।

Gehu Kharid Registration UP प्रारूप कैसे देखें ?

  • राज्य के किसान ई-उपार्जन पर ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने से पहले आवेदन पत्र का प्रारूप भी देख सकता है जिससे उसको अपनी फसल को बेचने के लिए आवेदन करने में आसानी होगी। e kray pranali
  • ई क्रय प्रणाली की आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपको पंजीकरण प्रारूप में ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने पंजीकरण प्रारूप की पीडीएफ खुल जायेगा।आप इसे विस्तारपूर्वक पढ़ सकते है |

किसान Gehu Kharid Registration UP फॉर्म का प्रिंट कैसे निकालें ?

  • रऑनलाइन आवेदन पत्र सफलतापूर्वक भरने के बाद राज्य के किसान उस आवेदन पत्र का प्रिंट भी आसानी से निकल सकते है
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर प्रिंट निकलने के लिए आपको पंजीकरण प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। kisan panjikaran up
  • प्रिंट पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा जिस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड डाल कर आगे बढ़े के बटन पर क्लिक करना होगा
  • अब आपके द्वारा पूर्ण रूप से भरा हुआ आवेदन पत्र खुल कर आ जाएगा जिसको आप प्रिंट या सेव कर सकते हैं।

लॉक के उपरांत टोकन कैसे बनाएं ?

  • गेहूँ की फसल की खरीद हेतु ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने के बाद किसान भाई को अपनी फसल को मंडी में किस दिन और कितने बजे लेकर जाना है इसके लिए मंडी टोकन बनाने की जरूरत होती है।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सबसे पहले आपको “लॉक के उपरांत टोकन बनाये” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद किसान पंजीकरण Id अथवा मोबाइल न. और कैप्चा दर्ज करें औऱ ‘आगे बढ़े’ के बटन पर क्लिक करें। kisan panjikaran up
  • जिसके बाद रबी फसल (गेहूं) खरीद हेतु ऑनलाइन टोकन पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। यह क्रय हेतु टोकन किसान को उसके मोबाइल नंबर पर भी प्राप्त होंगा जिसमें अपनी फसल को लेकर मंडी जाने का दिन और समय दोनों दिए गए होंगे।

CMR का Movement चालान Generate करने की प्रक्रिया :

  • सर्वप्रथम आपको खाद एवं रसद विभाग सार्वजनिक वितरण प्रणाली उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने खुले ई-उपार्जन के होम पेज पर आपको गेहूं क्रय प्रबंधन प्रणाली 2021-22 के विकल्प पर क्लिक करना होगा। gehu registration
  • इसके पश्चात आपको शाखा के कॉलम में शाखा का चयन करने के पश्चात user type में क्रय केंद्र का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपनी user ID, Password तथा कैप्चा कोड दर्ज करके  सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको परिवहन के लिंक पर क्लिक करने के बाद सीएमआर मूवमेंट चालान जारी करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसपर आपको प्रेषक का नाम, मिल का नाम, प्राप्तकर्ता, परिवहन करता का नाम आदि जैसी सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके पश्चात आपको सुरक्षित करें के विकल्प पर क्लिक करने के बाद सीएमआर का मूवमेंट चालान जनरेट हो जाएगा।

ओटीपी सत्यापन कैसे करें ?

जब किसान द्वारा दर्ज बायोमेट्रिक सत्यापन 3 बार से ज्यादा बार फेल होने पर ओटीपी सत्यापन करने की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है:

  • सर्वप्रथम आपको अपने मोबाइल फोन में e-procurement ऐप खोलना होगा।
  • अब आपको क्रय केंद्र प्रभारी का username तथा password दर्ज करने के बाद लॉगइन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको किसान खोजे के विकल्प पर क्लिक करने के बाद किसान की आईडी दर्ज करके “जमा करें” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको आधार प्रमाणीकरण के अंतर्गत स्वयं या मनोनीत व्यक्ति के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब जमा करें के भीतर पर सेट करने के बाद आपको बायोमेट्रिक स्कैन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • स्कैन फेल होने की स्थिति में आपके सामने ओटीपी का पेज खुल कर आएगा जिसमें आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर आपको एक ओटीपी प्राप्त होगा।
  • आपको इस ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में दर्ज करने के बाद “जमा करें” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप ओटीपी के माध्यम से अपना सत्यापन कर पाएंगे।

मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया :

  • सबसे पहले आपको खाद एवं रसद विभाग सार्वजनिक वितरण प्रणाली उत्तर प्रदेश की ऑफिशियल वेबसाइट के होम पेज पर जाना होगा।
  • अब होम पेज पर आपको खरीद हेतु किसान पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको मोबाइल ऐप डाउनलोड करें (केवल एंड्रॉयड फोन) के विकल्प पर क्लिक करना होगा। gehu registration
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करेंगे मोबाइल ऐप ऑटोमैटिकली आपके डिवाइस में डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • डाउनलोड प्रक्रिया पूरे होने के बाद आपको इस ऐप को इंस्टॉल करना होगा।
  • इस प्रकार आप सफलतापूर्वक अपने स्मार्टफोन में मोबाइल ऐप डाउनलोड कर पाएंगे।

खाद एवं रसद विभाग ई – क्रय प्रणाली की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आप किसान पंजीकरण संसोधन, ई प्रोक्योरमेंट मॉड्यूल पर डिजिटल सिग्नेचर और खरीदे हुए गेहूं का विवरण जैसी तमाम सुविधाओं के लिए स्वयं को पंजीकृत कर लाभप्रद हो सकते हैं

FAQ :

ई-क्रय प्रणाली / ई उपार्जन पोर्टल क्या है?

कोरोना काल के चलते किसानों की रवि फसल (गेंहू) न बेच पाने की समस्या का निवारण स्वरूप उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ई क्रय प्रणाली जारी की गई है। यह एक ऑनलाइन सुविधा है जिसके अंतर्गत राज्य के किसान स्वयं को पंजीकृत कर अपनी फसल सीधे राज्य सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर बेच सकते हैं और मंडियों में अपनी फसल के लिए टोकन भी प्राप्त कर सकते हैं।

उत्तर प्रदेश ऑनलाइन गेहूं खरीद के अंतर्गत राज्य के कितने किसानों को योजना का लाभ दिया जा चुका है ?

अब तक 20.50 लाख मैट्रिक टन गेहूं की खरीद की जा चुकी है। यह खरीद न्यूनतम समर्थन(MSP) मूल्य पर लगभग 3,99,935 किसानों से की जा चुकी है।

इस योजना के अंतर्गत 8523 किसानों को 92.78 करोड़ रुपए का भुगतान भी गेहूं खरीद पर किया जा चुका है।

राज्य सरकार द्वारा किसान को कितनी न्यूनतम समर्थन राशि प्राप्त होगी?

₹1975 प्रति कुंटल

क्रय केंद्रों पर पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा क्या कदम उठाए गए हैं ?

क्रय केंद्रों पर विभिन्न प्रकार के इंस्ट्रूमेंट जैसे की नमी मापक यंत्र, डबल जाली का छलना‍, इलेक्ट्रॉनिक कांटा आदि सभी उपकरण 10 मार्च तक क्रय केंद्रों पर उपलब्ध कराए जाएंगे जिससे पारदर्शिता को सुनिश्चित करने का कार्य किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद योजना के जरिए लाभार्थी किसान अपना पंजीकरण कैसे कर सकते हैं ?

ऑनलाइन माध्यम से।

Leave a Comment