MKSY | उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (mksy.up.gov.in)

उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा प्रदेश की कन्याओं के पंजीकरण प्रक्रिया की मशक्कतों को धयान में रखे हए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY) का ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च किया गया है। mksy.up.gov.in पोर्टल के माध्यम से अब उत्तरप्रदेश का भविष्य करने वाली प्रदेश की बेटी आसानी से स्वयं को कन्या सुमंगला योजना के लिए घर बैठे पंजीकृत कर सकेगी। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की आधिकारिक वेबसाइट प्रदेश के समस्त नागरिकों को योजना से लाभान्वित होने के लिए पंजीकृत होने का अवसर देता है। दरअसल प्रदेश के नागरिकों को ऑफलाइन आवेदन करने के लिए कई मसक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, आवेदन प्रक्रिया को फॉलो करते हुए अलग अलग दफ्तरों में धक्के खाने की वजह से जन साधारण की समय एवं धन दोनों की समस्याएं आ रही है उन सभी समस्याओं के समाधान स्वरूप मुख्यमंत्री जी की इस योजना के चलते अब वह लोग अपनी बेटी के बेहतर भविष्य के लिए Department of Women And Child Development की official Website mksy.up.gov.in पर जाकर आसानी से अपनी बहन – बेटियों का पंजीकरण सफलतापूर्वक कर सकते हैं।

Also Read: YSR Navasakam Scheme | YSR Badugu Vikasam | Jan Dhan Yojana | E Gram

उत्तरप्रदेश राज्य सरकार द्वारा ऑनलाइन पंजीकरण शुरू करने से उत्तर प्रदेश के नागरिक के मशक्कतों से मुक्त हो जाएंगे और Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana के ज़रिये अपनी बेटी को आसानी से उच्च शिक्षा प्रदान कर सकेंगे। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना से जुड़ी समस्त जानकारी प्रदान करने जा रहे है और आपकी सभी संकाओं का निवारण भी सुनिश्चित करेंगे, तो इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

Table of Contents

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY):

प्रदेश के जो लाचार परिवार आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारणवश अपनी बेटी को अच्छी शिक्षा और एक बेहतर परवरिश देने में असमर्थ हैं और उन्हें उच्च शिक्षा प्रदान कर पाने की भी हालत में नहीं हैं तो इस स्थिति में उन गरीब परिवारों की बेटियों के उज्ज्वल भविष्य के किए माननीय मुख्यमंत्री जी ने Uttar Pradesh Kanya Sumangala Scheme 2021 को लॉन्च किया है जो कि बेटियों के भविष्य के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होगी। उत्तरप्रदेश राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना से लाभान्वित होना चाहते हैं और आवेदन करना चाहते है तो वह घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से आसान ढंग से अपना या ऊनी बहन – बेटी का आवेदन कर सकते है और अपनी बेटी के जन्म से ही उसकी अच्छी शिक्षा व उज्ज्वल भविष्य सुनिश्चित कर सकते हैं। MKSY 2021 (mksy.up.gov.in) के आवेदन पात्र बनने के लिए कन्याओ के परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रूपये या इससे कम होनी चाहिए तभी वह इस योजना के आवेदक बनने के योग्य हो सकेंगे। 

योजना का नाम मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना
किसके द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी
लाभार्थी राज्य के नागरिक ( बहन – बेटियां )
उद्देश्य उत्तरप्रदेश की बेटियों की बेहतर शिक्षा एवं उज्जवल भविष्य हेतु आर्थिक मदद।
आधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें
साल 2021

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY) का उद्देश्य:

Mukhyamantri Kanya Sumangala Scheme 2021 MKSY का शुभारंभ करने का उद्देश्य है राज्य के आर्थिक रूप से कमज़ोर परिवार की लड़कियों को उच्च शिक्षा प्रदान करने में सहायता के रूप में 15000 रूपये की धनराशि प्रदान करना और बेटियों को समाज में सर उठाकर जीने का हक़ देना व लड़कियों को भी लड़कों समान अधिकार देना। उत्तरप्रदेश सरकार का मानना है कि इस योजना से भ्रूण हत्या जैसे गंभीर अपराधों में भी भारी गिरावट देखने को मिली है और प्रदेश के नागरिक ऊनी बेटी की परवरिश को लेकर जागरूक हो रहे हैं। Kanya Sumangala Scheme 2021 का उद्देश्य प्रदेश की कन्याओ को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है।

कन्या सुमंगला योजना के माध्यम से राज्य के किसी भी परिवार में बेटी के जन्म से लेकर स्नातक /डिप्लोमा /डिग्री की पढाई तक का सारा खर्चा राज्य सरकार द्वारा दिया जायेगा। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 2021 के तहत बेटियों को जन्म से लेकर पढाई तक ₹15000 रूपये की कुल धनराशि राज्य सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी। यह धनराशि प्रदेश की पंजीकृत बेटियों को 6 किश्तों में दी जाएगी जिससे कन्याओ को पढाई करने में कोई आर्थिक समस्या न हो।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY) की विशेषताएं:

  • मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत बालिका के जन्म से लेकर स्नातक / डिग्री / डिप्लोमा तक की पढाई के दौरान राज्य सरकार द्वारा 15000 रूपये की कुल धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाने का प्रावधान है।
  • उत्तरप्रदेश की राज्य सरकार द्वारा इस कन्या सुमंगला योजना का कुल बजट 1200 करोड़ रूपये निर्धारित किया गया है जिससे कि प्रदेश की प्रत्येक बेटी इस योजना से लाभान्वित हो सके।
  • योजना का लाभ पाने हेतु आवेदन करने वाली कन्या के परिवार की वार्षिक आय 3 लाख से अधिक न हो, 3 लाख प्रति वर्ष से कम वार्षिक आय वाले परिवार की बेटियां ही योजना का लाभार्थी बनने हेतु पात्र होंगी।
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाली लाभार्थियों कन्याओं का बैंक खाता होना चाहिए तथा बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए जिससे कि धनराशि सीधा उन्ही के खाते में जमा कर दी जाए और कोई अन्य व्यक्ति उस धन को व्यर्थ न कर सके।
  • प्रदेश की सभी लाभार्थी कन्याओं को राज्य सरकार द्वारा भेजी जाने वाली धनराशि PFMS के माध्यम से भेजी जाएगी जिससे कि किसी प्रकार के फ्रॉड से बचा जा सकेगा।
  • एक परिवार की केवल 2 बेटियों को ही मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा और परिवार का आकार अधिकतम 2 बच्चो का होना चाहिए।

कन्या सुमंगला योजना की 6 श्रेणियाँ:

  • श्रेणी 1 – उत्तर प्रदेश की जिन नवजात बालिकाओं का जन्म 1 अप्रैल 2019 या उसके बाद हुआ है उन सभी लड़कियों को सरकार द्वारा 2000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • श्रेणी 2 – दूसरी श्रेणी कन्या के टीकाकरण तिथि पर लगती है जब लडक़ी का 1 वर्ष के अंदर टीकाकरण हुआ हो और अगर उसका जन्म 1 अप्रैल 2018 के बाद हुआ हो तो सरकार द्वारा लाभार्थी कन्या को 1000 रूपये की नकद धनराशि आर्थिक मदद के रूप में बेटी को दी जाएगी।
  • श्रेणी 3 – तृतीय श्रेणी में वह बालिका सम्मिलित होगी  जिसने चालू शैक्षिणिक सत्र में कक्षा 1 में प्रवेश लिया हो उसे सरकार की ओर से 2000 रूपये दिए जायेगे। सरकार बेटियों को शिक्षित बनाने की पहल को प्रोत्साहन प्रदान करती है।
  • श्रेणी 4 – इस श्रेणी में जिस कन्या ने निरंतर शिक्षा अध्ययन करते हुए कक्षा 6 में प्रवेश लिया हो उसे कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा कुल ₹2000 रूपये की नकद धनराशि आर्थिक सहायता के रूप मे देकर लाभार्थी किया जायेगा।
  • श्रेणी 5 – इसमें प्रदेश की वह बालिका शामिल होगी जिन्होंने चालू शैक्षणिक सत्र के दौरान कक्षा 9 में प्रवेश लिया हो और वे निरंतर अपने शैक्षिक पथ पर कार्यरत हों उन्हें राज्य सरकार द्वारा 3000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • श्रेणी 6 – आखिरी श्रेणी में कन्या के के 10वीं और 12वी पास करने के बाद स्नातक / डिग्री या डिप्लोमा के लिए प्रवेश लेने पर ₹5000 रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
किश्तों के निर्धारित समय सरकार द्वारा कन्याओं को दी जाने वाली धनराशि
कन्या के जन्म होने पर 2000 रुपये
बेटी के प्रथम टीकाकरण पर 1000 रुपये
कक्षा 1 में प्रवेश लेने के उपरांत 2000 रुपये
कक्षा 6 में दाखिला लेने के बाद 2000 रुपये
कन्या के कक्षा 9 में प्रवेश करने के उपरांत 3000 रुपये
कन्या के 10वीं था 12वीं उत्तीर्ण करने के उच्च शिक्षा प्राप्त करने हेतु स्नातक / डिग्री या कम से कम डिप्लोमा में प्रवेश लेने के बाद 5000 रुपये

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना हेतु लगने वाले दस्तावेज (पात्रता):

उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए आवेदन करने वाली कन्या को निम्नलिखित दस्तावेजो की आवेदन पत्र भरने में आवश्यकता होगी – 

  • आवेदन करने वाली लड़की उत्तरप्रदेश की ही स्थायी निवासी होनी चाहिए
  • माता पिता का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • रंगीन पासपोर्ट साइज फोटो

उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY) में आवेदन कैसे कर सकते हैं?

  • राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में अपनी बहन अथवा बेटी के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो वह नीचे दर्शाई गई प्रक्रिया को फॉलो करते हुए कर सकते हैं –
  • सर्वप्रथम आवेदनकर्ता को Department of  Women and Child Development की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने MKSY का होम पेज खुलकर आजायेगा।
  • MKSY के होम पेज पर आपको Citizen Service Portal का विकल्प दिखेगा जिस ऑप्शन की लिंक पर आपको क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन के लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर एक नया पेज खुल जायेगा जिस पर आपको सहमति का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • ऑप्शन ‘मै सहमत हूँ’ पर टिक करने के पश्चात ‘जारी रखे’ पर क्लिक करना होगा। इस पर क्लिक करने के बाद आप अगला पेज खुल जायेगा जिस पर आप रजिस्ट्रेशन फॉर्म मिल जायेगा।
  • आवेदन पत्र में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे नाम, आधार नंबर, मोबाइल नंबर और OTP आदि सही सही डालकर सत्यापित करना होगा। सत्यापित होने के बाद आपका पंजीकरण सफलतापूर्वक हो जायेगा।
  • पंजीकरण के सफलता के बाद आपके सेल फ़ोन पर आपकी यूज़र आईडी प्राप्त होगी जिसकी मदद से आप पोर्टल पर आसानी से लॉगिन कर सकने के पात्र होंगे।
  • अब आपको पोस्टल में अपनी यूज़र आईडी और पासवर्ड डालकर लॉगिन करने की जरूरत होती है, इसके बाद आपको बालिका का पंजीकरण फॉर्म स्क्रीन पर दिखाई देगा।
  • अब फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकरी बिल्कुल सटीक और सही सही भरे और अपने सभी दस्तावेज़ों को अपलोड कर दे, अपलोड करने के बाद सब्मिट के बटन पर क्लिक कर दे और सफलता से सबमिट करें।
  • इस तरह आपका आवेदन पूरा हो जायेगा और आपकी बेटी मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की पात्र बन जाएगी एवं उसका उज्ज्वल भविष्य सुनिश्चित हो जाएगा।

Contact Us:

महिला कल्याण निदेशालय

“उत्तर प्रदेश सरकार”

8वीं मंजिल, जवाहर भवन, अशोक मार्ग

लखनऊ – 1 ( उत्तरप्रदेश )

FAQ :

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना MKSY और mksy.up.gov क्या है?

प्रदेश के जो लाचार परिवार आर्थिक रूप से कमज़ोर होने के कारणवश अपनी बेटी को अच्छी शिक्षा और एक बेहतर परवरिश देने में और उन्हें उच्च शिक्षा प्रदान कर पाने में असमर्थ हैं तो इस स्थिति में उन परिवारों की बेटियों के उज्ज्वल भविष्य के किए माननीय मुख्यमंत्री जी ने Uttar Pradesh Kanya Sumangala Scheme 2021 को लॉन्च किया है जो कि बेटियों के भविष्य के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होगी।

MKSY के अंतर्गत उत्तरप्रदेश के किन परिवारों की बेटियों को योजना का लाभ दिया जाएगा, उनके मापदंड क्या हैं?

योजना का लाभ पाने हेतु आवेदन करने वाली कन्या के परिवार की वार्षिक आय 3 लाख से अधिक न हो, 3 लाख प्रति वर्ष से कम वार्षिक आय वाले परिवार की बेटियां ही योजना का लाभार्थी बनने हेतु पात्र होंगी।

राज्य सरकार द्वारा पंजीकृत कन्याओं को जन्म से लेकर स्नातक तक कुल कितनी सहायता धनराशि प्राप्त होगी?

उत्तरप्रदेश राज्य सरकार द्वारा बेटियों को कुल 15000 रुपये निर्धारित छः किश्तों में प्रदान किये जायेंगे।

MKSY योजना का आवेदक बनने हेतु बेटी को किन किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी ?

योजना के पात्र बनने के लिए आवेदक कन्या उत्तरप्रदेश की स्थायी निवासी होनी चाहिए और उसे माता पिता का आधार कार्ड, पहचान पत्र, आय प्रमाण पत्र, जन्म प्रमाण पत्र, निवास प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर, रंगीन पासपोर्ट साइज फोटो आदि की आवश्यकता होगी।

उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY) की इच्छुक लाभार्थी कन्याएं योजना के लिए अपना पंजीकरण कैसे कर सकती हैं?

प्रदेश में कन्याओं को ऑफलाइन आवेदन में भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था जिससे कि नागरिकों का समय और खर्च दोनों की खपत हो रही थी, इसलिए इस समस्या के समाधान हेतु प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने mksy.up.gov.in को लॉन्च करते हुए आवेदन प्रक्रिया को बेहद आसान बना दिया है। अब घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से प्रदेश की बेटियां स्वयं को योजना के लिए पंजीकृत कर सकेंगी। 

Leave a Comment